Home » Cover Story » पिछले छह महीनों में मोदी के निजी हैंडल ने हर 2 घंटे में ट्वीट किया

पिछले छह महीनों में मोदी के निजी हैंडल ने हर 2 घंटे में ट्वीट किया

कश्यप रायबागी,
Views
1757

Modi_620

पुणे: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के व्यक्तिगत ट्विटर हैंडल, @narendramodi, ने अक्टूबर 2018 और मार्च 2019 के बीच 2,143 बार ट्वीट किया है, यानी औसतन हर दो घंटे में एक ट्वीट किया है और अपनी राजनीतिक पार्टी @ BJP4India के हैंडल का सबसे ज्यादा, करीब 31 बार उल्लेख किया है। इन छह महीनों के दौरान, रिपब्लिक टीवी, जो एक न्यूज चैनल है, जिसे पीएम मोदी ने रिट्वीट किया है, करीब नौ बार। अपने सभी 35 रीट्वीट में, सात ने उनके अपने ट्विटर हैंडल का उल्लेख किया है।

 

सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ-साथ पीएम मोदी सोशल मीडिया, खासकर ट्विटर के सक्रिय और बड़े उपयोगकर्ता हैं, और उनके कई ट्वीट्स भारत के मुख्यधारा के मीडिया द्वारा आगे प्रसारित किए जाते हैं।

 

 इस महीने, भारत की 17 वीं लोकसभा के चुनावों के शुरु होने के साथ, फिर से चुने जाने के लिए पिछले छह महीने का अभियान, जो प्रधानमंत्री मोदी के आस-पास घूम रहा है, सत्तारूढ़ पार्टी के लिए महत्वपूर्ण है।

 

2018 के अंत में बीजेपी ने, पांच राज्य विधानसभाओं में से तीन में उलटे परिणाम देखें हैं, जहां पार्टी का शासन था। पीएम के पिछले छह महीनों के ट्वीट्स में, दो ट्वीट ने फॉलोअर्स से सबसे ज्यादा रीट्वीट प्राप्त किया है – जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में  फरवरी 2019 में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर आतंकी हमले (जिसमें 40 कर्मियों की मौत हुई ) के बाद सशस्त्र बलों से संबंधित और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के उपहास “चौकीदार चोर है” के जवाब में उनका राष्ट्रीय अभियान ‘मैं भी चौकीदार’। अन्य घटनाएं जिन्होंने सुर्खियां बटोरी और राजनीतिक ट्वीट्स की झड़ी लग गई, उनमें विपक्षी गठबंधन का गठन, महागठबंधन; दुनिया में सबसे ऊंचा गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा का अनावरण,; और महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती का उत्सव शामिल था।

ज्यादातर ट्वीट अक्टूबर 2019 के तीन हफ्तों में आए

 

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है,  पिछले 182 दिनों से मार्च 2019 तक, पीएम मोदी ने कुल 2,143 बार ट्वीट किया है। वह औसतन एक दिन में 12 ट्वीट करते हैं। महीना के हिसाब से देखें तो @narendramodi ने अक्टूबर 2018 में औसतन दिन में 16 बार ट्वीट किया, जो फरवरी 2019 में 9 ट्वीट तक गिर गया। मार्च 2019 में, आम चुनावों के एक महीने पहले, उन्होंने दिन में औसतन 11 बार ट्वीट किया है।

 

महीने के अनुसार पीएम मोदी द्वारा किए गए ट्वीट

15 अक्टूबर, 2018 के सप्ताह में पीएम ने इस अवधि में सबसे अधिक 233 बार ट्वीट किया था। इन ट्वीट्स में से 84 में हैशटैग, #Gandhi150, शामिल था, क्योंकि यह महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती थी।

 

 हैशटैग और उल्लेख

# Gandhi150, के बाद, प्रधान मंत्री का दूसरा सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला हैशटैग #mankibaat, (31 बार) था, इसी नाम से उनका मासिक रेडियो शो आता है। चुनावों के क्रम में प्रचारित #VoteKar और #MainBhiChowkidar हैशटैग क्रमशः 16 और 12 बार प्रदर्शित हुए हैं।

 

ट्वीटर हैंडल, जिसका पीएम मोदी ने पांच या ज्यादा बार उल्लेख किया है।

पीएम मोदी ने कुल 539 बार ट्विटर हैंडल का जिक्र किया या टैग किया, जिनमें से BJP4India, को सबसे ज्यादा टैग मिले है। राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश राज्यों के लिए बीजेपी के ट्विटर हैंडल ने भी शीर्ष 10 में जगह बनाई। इन तीनों में दिसंबर 2018 में चुनाव थे।

 

पीएम मोदी द्वारा एक से ज्यादा बार इस्तेमाल किया गया हैशटैग


 

पीएम मोदी द्वारा हैशटैग और उल्लेखों के विश्लेषण ने रीट्वीट (2,143 ट्वीट्स में से 35) को बाहर रखा है। हालांकि, उनके द्वारा किए गए ट्वीट में, रिपब्लिक टीवी (अंग्रेजी और हिंदी) एकमात्र मीडिया संस्थान था, जिन्हें नौ बार रीट्वीट किया गया था। लोकसभा चुनाव अभियान पर पीएम के काम के दौरान चैनल ने उनके साथ हाल ही में एक साक्षात्कार का आयोजन किया था, इसके बाद ही मोदी ने चैनल को रीट्वीट किया था।

 
रिट्वीट और लाइक
 

2,143 ट्वीट्स में लगभग 77 लाख रीट्वीट और 3.24 करोड़ लाइक थे।
 

सबसे ज्यादा लाइक (160,802) और रीट्वीट (56,398) वाले ट्वीट जिसमें हैशटैग शामिल था, जिसमें पीएम मोदी ने कहा था कि, “हर कोई भ्रष्टाचार, गंदगी और सामाजिक बुराइयों से लड़ रहा है और भारत की प्रगति के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है।” ।

 

इसने हैशटैग #MainBhiChowkidaar और उससे संबंधित एक अभियान गीत और वीडियो चलाया।
 

शीर्ष 10 रिट्वीट किए गए ट्वीट्स में से चार सशस्त्र बलों के बारे में थे, सभी पुलवामा की घटना से जुड़े थे। तीन राष्ट्र के बारे में थे, जिनमें से दो ने #MainBhiChowkidaar हैशटैग का उल्लेख किया; दो रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन द्वारा एंटी-सैटेलाइट मिसाइल के प्रक्षेपण के बारे में थे, और एक पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बारे में था।

 
(रायबागी, एक डेटा विश्लेषक और कार्डिफ विश्वविद्यालय से कम्प्यूटेशनल और डेटा पत्रकारिता में ग्रैजुएट हैं और वह इंडियास्पेंड के साथ इंटर्न हैं।)
 

यह लेख मूलत: अंग्रेजी में 2 अप्रैल, 2019 को indiaspend.com प्रकाशित हुआ है।

 

हम फीडबैक का स्वागत करते हैं। हमसे respond@indiaspend.org पर संपर्क किया जा सकता है। हम भाषा और व्याकरण के लिए प्रतिक्रियाओं को संपादित करने का अधिकार रखते हैं।

 
“क्या आपको यह लेख पसंद आया ?” Indiaspend.com एक गैर लाभकारी संस्था है, और हम अपने इस जनहित पत्रकारिता प्रयासों की सफलता के लिए आप जैसे पाठकों पर निर्भर करते हैं। कृपया अपना अनुदान दें :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code